प्रधानमंत्री नई शिक्षा नीति योजना 2022 | National Education Policy (MYNEP)

नई शिक्षा नीति क्या है विस्तार से समझाइए | नई शिक्षा नीति के उद्देश्य क्या है | नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है | नई शिक्षा नीति 2022 | नई शिक्षा नीति के अध्यक्ष कौन है

National Education Policy 2022 | new education policy 5+3+3+4 | New Education Policy in India | what is new national policy in india

नई शिक्षा नीति क्या है विस्तार से समझाइए | नई शिक्षा नीति के उद्देश्य क्या है | नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है | नई शिक्षा नीति 2022 | नई शिक्षा नीति के अध्यक्ष कौन है  National Education Policy 2022 | new education policy 5+3+3+4 | New Education Policy in India | what is new national policy in india

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के अंतर्गत मानव संसाधन प्रबंधन मंत्रालय ने अभी मैं कुछ बदलाव किया है और उसकी शुरुआत है वह इसरो के प्रमुख डॉक्टर कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता से की गई है।

जो यह National Education Policy है इसको कैबिनेट के द्वारा मंजूरी मिल चुकी है और इसी कारण आने वाले समय में स्कूल और कॉलेज में education को लेकर बहुत सारे बदलाव देखने को मिलेंगे। हम आज आपको साइकल के अंदर बताएंगे कि नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है और इससे जुड़ी सभी जानकारी आपको बताएंगे नेशनल एजुकेशन पॉलिसी का मुख्य उद्देश्य क्या है इसके क्या लाभ होते हैं Policy में क्या बदलाव हुए हैं इस सब की जानकारी आपको इस आर्टिकल में देंगे।

न्यू नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2022

हम सभी जानते ही हैं कि National Education Policy के अनुसार होली हमें और स्कूल में शिक्षा की नीतियां बनाई जाती है और इसी को देखते हुए जो हमारे देश की सरकार है उसने नेशनल एजुकेशन पॉलिसी की शुरुआत की है और यह नीति इसरो के जो प्रधान चिकित्सक कस्तूरीरंगन जी हैं उनकी अध्यक्षता के तौर पर तैयार की गई है और इसी बदलाव के माध्यम से सन 2030 तक जो स्कूली शिक्षा है उसमें सौ पर्सेंट GIR के साथी स्कूल से सेकेंडरी स्कूल तक की शिक्षा का सार्वभौमीकरण कर दिया जाएगा। जैसे कि आप सभी जानते हैं पहले 10+2 पैटर्न का पालन किया जाता था लेकिन अब इस को बदल दिया गया है अब नीति 5+3+3+4 इस पैटर्न का पालन किया जाएगा।

Overview of national education policy

नाम नेशनल एजुकेशन पॉलिसी
आरम्भ की गई शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल
विभाग शिक्षा विभाग, भारत सरकार
वर्ष 2022
लाभार्थी भारत के नागरिक
उद्देश्य शिक्षा का सार्वभौमीकरण करना है तथा भारत को वैश्विक ज्ञान महाशक्ति बनाना है।
श्रेणी केंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट www.mhrd.gov.in/

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी उद्देश्य।

New National Education Policy के कुछ मुख्य उद्देश्य यह है कि हमारे देश को विश्व रूप से शैक्षिक महाशक्ति बनाना है और भारत के अंदर शिक्षा को सर्व भौमिक बनाकर शिक्षा की गुणवत्ता है उसको बढ़ाना है। जो नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी है उसके तहत पुरानी शिक्षा की नीति को बदल दिया जाएगा जिससे कि शिक्षा की जगह वक्त है उसमें बहुत ज्यादा सुधार होगा और इसके साथ-साथ बच्चे भी अच्छी शिक्षा प्राप्त कर पाएंगे और अपने भविष्य को उज्जवल बना पाएंगे। नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी का जो मुख्य उद्देश्य है वह बच्चों को रचनात्मक और तकनीकी के साथ साथ हैं शिक्षक जो इंपोर्टेंस है उसको समझना है और उनको अपने आने वाले कल के लिए पूरी तरह से तैयार करना है ताकि उनका मनोबल बढ़ाया जा सके।

नई शिक्षा नीति की स्ट्रीम्स 2022

जो छात्र हैं उनको राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत किसी एक्सट्रीम का चुनाव नहीं करना होगा अब जो छात्र हैं वह साइंस स्ट्रीम के साथ-साथ अलग स्ट्रीम का भी चुनाव कर सकते हैं जैसे Art स्टीम इसका भी अध्ययन साथ साथ कर सकते हैं जो हर एक विषय है उनको अतिरिक्त पाठ्यक्रम की वजह एक पाठ्यक्रम के रूप में जाना जाएगा जिसमें नृत्य खेल योग मूर्तिकला संगीता दी शामिल होंगे जो पाठ्यक्रम है उसको एनसीईआरटी के तहत राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा के तहत डिजाइन किया जाएगा और जो शारीरिक शिक्षा है उसको भी पाठ्यक्रम में सम्मिलित किया जाएगा शैक्षणिक और व्यवसायिक धाराओं को अलग नहीं किया जाएगा इससे यह होगा कि जो छात्र हैं उनको दोनों क्षमताओं को विकसित करने का मौका प्राप्त होगा।

4 साल की b.Ed

जो राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2022 है उसके अनुसार जब भी ऐड की अवधि है उसको बढ़ाकर 4 साल कर दिया गया है सन 2030 तक शिक्षा की जो न्यूनतम योग्यता है वह 4 साल b.Ed कार्यक्रम में होगे जो निर्धारित किए गए मानकों का पालन नहीं करेंगे उनसे क्षणिक संस्थानों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के कुछ मुख्य अंश 2022

  • कहीं निकाल बिंदु और कहीं पर प्रविष्टियां उत्तम शिक्षा के लिए उपयुक्त प्रमाणीकरण के साथ होंगे।

  • जो graduate कोर्स होगा साल से 4 साल तक का हो सकता है इसके अंदर बहुत सारे निकाह स्वीकार भी शामिल होंगे जो कि उचित प्रमाण पत्र के साथ होगा जैसे कि आपने 1 साल के स्थानक पाठ्यक्रम में पढ़ाई की है तो उसके लिए आप कोई प्रमाण पत्र दे दिया जाएगा फिर आपको 2 साल के बाद एक अग्रिम deploma दिया जाएगा और 15 साल के बाद आपको degree दे दी जाएगी और फिर 4 साल के बाद आपको रिसर्च के साथ साथ है बैचलर डिग्री भी दे दी जाएगी।

  • शैक्षणिक बैंक ऑफ क्रेडिट का भी गठन किया जाएगा जिसके अंदर जो डिजिटल अकैडमी क्रेडिट है उसको जो विभिन्न तरह के उच्च शिक्षा संस्थान हैं उनके तहत एकत्रित किया जाएगा और उनको जो अंतिम डिग्री है उसके तहत स्थानांतरित किया जाएगा और उनको गिना जाएगा।

  • पढ़ने वाली पुस्तकों पर निर्भरता को कम करते हुए न्यू National Education Policy के उद्देश्य पर ई लर्निंग पर भी जोर दिया जाएगा।

  • सन 2030 तक हर एक जिले के अंदर एक बहु अनुशासनात्मक उत्तम शिक्षा संस्थान बनाया जाएगा।

  • नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के तहत 2040 तक सभी उच्च शिक्षा संस्थानों को बहु विषयक संस्था बनाने का एक लक्ष्य निर्धारित है भी किया गया है।

  • उत्तर शिक्षा का आयोग सामग्र उच्च शिक्षा के लिए एक निकाय होगा (कानूनी और चिकित्सक शिक्षा को छोड़कर) 

  • जब भारतीय का उच्च शिक्षा आयोग होगा उसके अंदर चार वर्टिकल होंगे जो कि राष्ट्रीय स्तर एजुकेशन नियामक परिषद तथा सामान्य शिक्षा परिषद और राष्ट्रीय प्रत्यायन परिषद और उच्च शिक्षा परिषद होंगे।

Education policy के तहत निजी और सरकारी शिक्षा एक समान होगी और जो विकलांग लोग हैं उनके लिए शिक्षा बदल दी जाएगी।

National education policy के तहत सुविधाएं।

  • जो बच्चों का स्कूल बैग है उसके वजन को कम करने के लिए क्लास के अंदर एक टाइम टेबल भी बनाया जाएगा जो स्कूल में पुस्तकें रखी हैं उनका वजन प्रकाशनों के द्वारा उन पर मुद्रित किया जाएगा स्कूलों के द्वारा पुस्तकों का चुनाव करते समय पुस्तकों के वजन पर भी ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

  • National Education Policy के अनुसार बच्चों की जो शिक्षा है उस पर भी ध्यान दिया जाएगा और बच्चों के होमवर्क पर भी ध्यान दिया जाएगा और इस योजना के माध्यम से दूसरी कक्षा उत्तर बच्चों को कोई भी होमवर्क नहीं दिया जाएगा क्योंकि जो दूसरी और पहली कक्षा के बच्चे होते हैं वह बहुत ही कम उम्र के होते हैं और उनको ज्यादा टाइम तक बैठने की भी आदत नहीं होती।

  • और स्कूल को यह भी बताया जाएगा कि जो मध्यान भोजन की गुणवत्ता है वह अच्छी हो जिससे कि बच्चों को लंच बॉक्स खाने की जरूरत ना पड़े और स्कूल के अंदर जो पानी की सुविधा है वह भी अच्छी उपलब्ध होनी चाहिए ताकि बच्चों को घर से पानी की बोतल अन्ना लानी पड़े और इन सभी सुविधाओं के तहत स्कूल के बैग का वजन है वह कम हो जाएगा।

  • कक्षा III, IV और V के बच्चों को हफ्ते के अंदर केवल 2 घंटे ही homework दिया जाएगा जो छठी से लेकर आठवीं क्लास तक के बच्चे हैं उनको हर रोज 1 घंटे का होमवर्क दिया जाएगा और जो कक्षा 9 से 12वीं तक के बच्चे हैं उनको हर दिन 2 घंटे तक का होमवर्क दिया जाएगा।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी पर प्रधानमंत्री जी का संबोधन।

  • हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 7 अगस्त 2020 को राष्ट्र को संबोधित किया था उन्होंने संबोधित करते वक्त 2022 के कुछ मुख्य अच्छा ऊपर National Education Policy को लेकर चर्चा की थी जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने यह कहा है कि जो नई एजुकेशन पॉलिसी होगी वह नए भारत के आधार पर बनेगी और जो यह पॉलिसी है यह भारत के छात्रों को वैश्विक नागरिक बनाएगी और उन सभी को सभ्यता से जोड़ेगी।

  • जो यह नई National Education Policy है यह छात्रों को अपने जुनून का पालन करने का अवसर प्रदान करेगी।

  • इस संबंध के अंदर जब प्रधानमंत्री जी हैं उसने गिरोह की मानसिकता को मध्य नजर रखते हुए कहा है कि जो छात्र है वह अपनी रुचि और अक्षमता तथा मांग का नक्शा तैयार करें।

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के तहत है जो छात्र रहे हैं उनको आलोचनात्मक सोच को विकसित करने की आवश्यकता है क्योंकि अब हम एक ऐसे नए युग में एंट्री करने जा रहे हैं जहां पर कोई भी इंसान अपने पूरे जीवन काल में किसी भी पैसे का पालन नहीं करता है और जो यह है नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी है वह इसी पर आधारित है इसी को मध्य नजर रखते हुए हमने विविधता के साथ शुरुआत की है।

  • अब तक आप जो सोचते थे उस पर जो शिक्षा नीति है वह ध्यान केंद्रित करती थी लेकिन अब जो नई शिक्षा नीति होगी वह इस बात पर ध्यान केंद्रित करेगी कि कैसे सोचना है।

  • जब नई शिक्षा नीति शुरू होगी तो शिक्षा विभाग से जुड़े लोगों का बड़ा योगदान बीच में होगा और साथ ही साथ इसमें शिक्षकों के प्रशिक्षण पर भी बहुत ध्यान दिया जाएगा।

  • प्रधानमंत्री जी ने अपने संबोधन के अंदर कई सारे निकास और प्रवेश के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया है और साथ ही साथ इस नई शिक्षा नीति में कक्षा पांच तक क्षेत्र की भाषा में शिक्षा का प्रावधान शामिल होगा।

National education policy 2022 की विशेषताएं।

  • जो यह पॉलिसी है इसको पॉलिसी के आधार पर मानव संसाधन तथा प्रबंधन मंत्रालय और शिक्षा मंत्रालय के रूप में जाना जाएगा

  • National Education Policy 2022 के अंतर्गत है जो शिक्षा है उसका सर्वभौमिकरण किया जाएगा और इसके अंदर लो और मेडिकल की पढ़ाई शामिल नहीं की जाएगी

  • जैसे कि हम जानते हैं कि पहले 10+2 पैटर्न हर जगह फॉलो किया जाता था लेकिन अब नई शिक्षा नीति के कोडिंग 5+3+3+4 का पैटर्न फॉलो किया जाएगा और इसके अंदर 12 साल की स्कूल की शिक्षा होगी तथा 3 साल की प्री स्कूल की शिक्षा प्रदान की जाएगी

  • इस नई National Education Policy के तहत छठी क्लास के व्यवसायिक परीक्षण तथा इंटर्नशिप की शुरुआत कर दी जाएगी

  • नई policy के तहत पांचवी क्लास तक क्षेत्रीय भाषा में शिक्षा प्रदान की जाएगी।

  • जो पहले की शिक्षा नीति थी उसमें कॉमर्स, साइंस तथा आर्ट स्ट्रीम आदि होती थी लेकिन अब ऐसी कोई भी स्ट्रीम नहीं होगी अब छात्र अपनी इच्छा के अनुसार विश्व का चुनाव कर सकते हैं।

  • नई शिक्षा नीति के अनुसार जो छात्र हैं वह फिजिक्स के साथ-साथ अकाउंट तथा art कोई भी सब्जेक्ट का चुनाव कर सकते हैं

  • नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2022 के तहत है जो छात्र हैं उनको छठी क्लास से ही कोडिंग की शिक्षा दी जाएगी।

  • जो है New National Education Policy 2022 है इसके तहत जितने भी स्कूल हैं उन सभी को डिजिटल इक्विप्ड किया जाएगा

  • और हर तरह की इकॉन्टेंट को क्षेत्र की भाषा में ट्रांसलेट भी किया जा सकेगा।

  • नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के द्वारा वर्चुअल लैब को भी डिवेलप किया जाएगा

न्यू नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2022 के लाभ

  • न्यू नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के तहत भारत की अन्य प्राचीन भाषाओं को पढ़ने कभी विकल्प रखा जाएगा।

  • नई शिक्षा नीति के अनुसार जब बोर्ड परीक्षा का तनाव होता है वह भी कम होगा और इससे छात्रों पर कोई बोझ भी नहीं पड़ेगा और साथ में सीखने को आसान बनाने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सॉफ्टवेयर भी प्रयोग किए जाएंगे।

  • इस योजना के माध्यम से एमफिल की डिग्री भी खत्म कर दी जाएगी और बाकी का करिकुलर एक्टिविटीज को मैन सिलेबस में रखा जाएगा

  • न्यू National Education Policy के अंतर्गत छात्रों को तीन तरह की मुख्य भाषा सिखाई जाएंगी जो कि उनके राज्य पर निर्धारित की जाएंगी।

  • जो नई शिक्षा नीति है उसको लागू करने के लिए जीडीपी का 6 परसेंट खर्च किया जाएगा।

  • इस योजना के अंतर्गत जो स्कूली शिक्षा के लिए पाठ्यक्रम की रूपरेखा है वह राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और परिषद के द्वारा तैयार की जाएगी।

  • न्यू नेशनल एजुकेशन पॉलिसी को शुरू करने के लिए बहुत सारे संस्थान स्थापित किए जाएंगे।

विदेशी भाषा सीखने पर जोर। Foreigner language

छात्र माध्यमिक विद्यालय के अंदर अपने मनपसंद विदेश की भाषा को भी आसानी से सीख सकते हैं जिसके अंदर जर्मनी, फ्रेंच, चीनी स्पेनिश, जापानी इत्यादि शामिल होंगी और यह सभी प्रयास भारत देश को शिक्षा के विश्व स्तर पर पहचान दिलाने के लिए एक प्रयास है।

उच्च शिक्षा में बदलाव।

  • 8 क्षेत्रीय भाषाओं में एक और से शुरू होगा।
  • शिक्षा में तकनीकी को बढ़ावा मिलेगा।
  • मैट्रिक के लिए राष्ट्रीय मिशन होगा
  • दिव्यांगजनों के लिए शिक्षा में बदलाव
  • प्राइवेट शिक्षा और सरकारी मानक सामान
  • हायर एजुकेशन के लिए एक रेगुलेटर
  • 5 साल का कोर्स वालों के लिए एमफिल में छूट
  • उच्च शिक्षा में मल्टीपल एंट्री और एग्जैक्ट का विकल्प।
  • कॉलेजों के एक्रीडिटेशन के आधार पर ऑटोनॉमी।
  • एनआरएफ नेशनल रिसर्च फाउंडेशन की स्थापना।

स्कूली शिक्षा में बदलाव।

  • बच्चों के लिए नया कोडिंग कोर्स शुरू होगा
  • रिपोर्ट कार्ड में लाइफ स्किल शामिल होंगे
  • वेकेशनल पर जोर होगा कक्षा 6 से होगी शुरू पढ़ाई।

  • एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज फॉर मेन कैरी कुलम में शामिल किया जाएगा।
  • साल 2030 तक बच्चों के लिए उच्च शिक्षा सुनिश्चित की जाएगी।

  • नवी क्लास से 12वीं क्लास की पढ़ाई की रूपरेखा 5 प्लस 3 प्लस 3 प्लस 4 पर आधारित होगी।

  • 3 से 6 साल के बच्चों के लिए एजुकेशन और चाइल्डहुड केयर

  • नई नेशनल क्यूरी कुलम फ्रेमवर्क तैयार किया जाएगा बोर्ड एग्जाम दो भागों में होंगे।

  • एनसीईआरटी द्वारा फाउंडेशन लिटरेसी और न्यूमैरेसी पर नेशनल मिशन शुरू होगा।

National education policy registration process

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के लिए रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको सबसे पहले National Education Policy की अधिकारी वेबसाइट पर जाना होगा इसके बाद आपके सामने होम पर खुलकर आ जाएगा।

फिर आपको वेबसाइट के होम पेज पर रजिस्ट्रेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा फिर आपके सामने एक और पेज खुल कर आ जाएगा।

नई शिक्षा नीति क्या है विस्तार से समझाइए | नई शिक्षा नीति के उद्देश्य क्या है | नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है | नई शिक्षा नीति 2022 | नई शिक्षा नीति के अध्यक्ष कौन है  National Education Policy 2022 | new education policy 5+3+3+4 | New Education Policy in India | what is new national policy in india

#अब आपको निम्नलिखित जानकारियों को दर्ज करना होगा।

  • फर्स्ट नेम
  • मिडल नेम
  • लास्ट नेम
  • जेंडर
  • डेट ऑफ बर्थ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी

यह सभी जानकारी आपको इसमें भर देनी होगी फिर आपको रेस्ट करके ऑप्शन पर क्लिक करना होगा फिर आपकी National Education Policy के लिए जो रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया है वह पूरी हो जाएगी।

MYNEP प्लेटफॉर्म के अंदर लॉगिन करने की प्रक्रिया।

  • इसके लिए सबसे पहले आपको mynep ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा फिर आपके सामने एक होम पेज खुलकर आ जाएगा।

  • जो वेबसाइट का होम पेज है उस पर आपको लॉगइन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा फिर आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा।
नई शिक्षा नीति क्या है विस्तार से समझाइए | नई शिक्षा नीति के उद्देश्य क्या है | नेशनल एजुकेशन पॉलिसी क्या है | नई शिक्षा नीति 2022 | नई शिक्षा नीति के अध्यक्ष कौन है  National Education Policy 2022 | new education policy 5+3+3+4 | New Education Policy in India | what is new national policy in india

  • अब आपको भेज के अंदर अपना यूजर नेम और पासवर्ड तथा कैप्चर कोड को भरना होगा और फिर लॉगइन बटन पर क्लिक करना होगा।

  • इस प्रकार आप MYNEP प्लेटफार्म पर लॉग इन कर पाएंगे।

निष्कर्ष।

उम्मीद करते हैं हमारे द्वारा दी गई जानकारी National Education Policy (राष्ट्रीय शिक्षा नीति) आपको पसंद आई हो अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगे तो उसको ज्यादा ज्यादा शेयर करें और हमें कमेंट बॉक्स में बताएं कि आपको यह जानकारी कैसी लगी और हमारे द्वारा बताई गई जानकारी को एक बार आप अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सत्यापित जरूर करें। अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी में कोई त्रुटि है तो कृपया आप कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*